बारिश के बाद गंदे नाले जैसा दिल्ली की सड़कों का हाल

Spread the love

बारिश

हिंदी भाषा में एक कहावत प्रचलित है-‘ आसमान से गिरा, खजूर में अटका’. यह कहावत दिल्ली में रह रहे बारिश की प्रतीक्षा कर रहे लोगों के लिए सही साबित हो रही है. असल में गर्मी से निजात पाने के लिए दिल्ली के लोग कई दिनों से बारिश होने की प्रतीक्षा कर रहे थे. आज सुबह उपरवाले से सुन ली और जमकर वर्षा कर दी. अब इस भयंकर वर्षा के चलते लोगों को गर्मी से तो बेशक राहत मिली, लेकिन यह बारिश उनके लिए मुसीबत भी बन गयी.

हुआ यूँ कि राजधानी में घनघोर वर्षा होनेके बाद सड़कों पर पानी और कचरा कुछ इस तरह जमा होगया जैसे कि वह दिल्ली की बदहाली का सबूत दे रहा हो.  देश की राजधानी कही जाने वाली दिल्ली की सड़कों की तस्वीरें देखकर आप यही कहेंगे कि यह कोई सड़कों की तस्वीरें नहीं बल्कि किसी गंदे नाले में कचरे की तस्वीरें हैं .

अपने आप को राजधानी का निवासी बोलने के साथ ही दिल्ली के निवासी लोगों को पता है कि उन्हें दिल्ली में रहने के बावजूद भी उन्हें  ऐसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है. राजधानी की यह हालत कोई पहली बार ऐसी नहीं हुई है क्योंकि जब भी हल्की बारिश भी यदि होती है फिर भी यहाँ की सड़कों के हालात कुछ ऐसे ही होते हैं.

यह बदहाली यही नहीं रुक जाती क्योंकि पहले तो वर्षा होने पर पानी के साथ-साथ आस पास का कचरा सड़कों पर इकठ्ठा होता है और फिर वर्षा खत्म होने के बाद पानी सूख जाने पर उस कचरे का अम्बार सड़कों पर ही लगा रह जाता है, जिससे सड़कों पर चल रहे वाहनों को भी दिकत्तों का सामना करना पड़ता है.

इन सारी समस्याओं को जूझते हुए दिल्ली निवासियों को रहत की बात यह है कि इतने दिनों से वह गर्मी से परेशान थे जो कि बारिश के बाद कम हो गयी है. लेकिन कुछ लोगों का कहना है कि गर्मी से निजात तो मिली किन्तु पानी व कचरा जमा हो जाने की इस समस्या से “आसमान से गिरा, खजूर में अटका” वाला ही हिसाब हो गाया है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *