चाणक्य की कुटिल बुद्धि का एक बेहतरीन उदाहरण

Spread the love

Chankya Image

चाणक्य की कुटिल बुद्धि से चंद्रगुप्त ने लगभग पूरे एशिया महाद्वीप को भारत में मिला लिया था। चाणक्य कुशल नेतृत्व करने की क्षमता रखने के साथ साथ कूटनीतिज्ञ भी थे। चाणक्य की कूटनीति की बजह से चंद्रगुप्त ने अनेक युद्धों में महारत हासिल की थी। आज हम आपको चाणक्य की कूटनीत का एक ऐसा उदाहरण बताएंगे जिसको जानकर आप हैरान रह जाएंगे।

आपको बता दें कि प्राचीन समय में किसी भी लड़की को विधवा होने पर समाज में तिरिस्कृत कर दिया जाता था।

आज हम आपको बता रहे हैं कि चाणक्य ने किस प्रकार ऐसी कन्याओं जिनके जीवन में विधवा होने का योग होता था उनका किस प्रकार जबरदस्त इस्तेमाल किया था।

चाणक्य अपने राज्य में जन्म लेने वाली हर लड़की का डाटा रखते थे, उनके जन्म लेते ही उनकी कुंडली बनाते थे और जिन कन्याओं के कुंडली में उन्हें उनके विधवा होने का योग दिखता था उनको एक विशेष स्कूल में पढ़ने को भेज दिया जाता था जहां उनको वचपन से ही थोड़ा थोड़ा जहर दिया जाता था अर्थात जासूसी, देशभक्ति, और लड़ाई की ट्रेनिंग दी जाती थी।

वयस्क होते होते उन्हें एक घातक विषकन्या बना दिया जाता था फिर उन्हें सार्वजनिक जीवन जीने के लिए मुक्त कर दिया जाता था। बाद में इनमें से जो भी विधवा होती थी उसे राज्य के खुफिया कार्यों में शामिल कर लिया जाता था।

ये विषकन्या चाणक्य के लिए गुप्तचर का कार्य किया करतीं थीं। शत्रु राजाओं को मोह माया में फसाती थीं और जरूरत पड़ने पर उनकी हत्या भी करती थीं।

चाणक्य ने विषकन्याओं की मदद से कई युद्ध बिना लड़े ही जीते थे।

ये थी चाणक्य की गजब की योजना किसी से जबरदस्ती नही किसी का वैवाहिक जीवन भी नही खराब किया जाता था, एवं जो विधवाएं समाज में तिरिस्कृत कर दी जाती थी उनका राष्ट्र सेवा में उम्दा उपयोग।

ऐसी ही अन्य रोचक और तथ्यात्मक खबरों में बने रहने के लिए जुड़े रहिये Estrade Herald के साथ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *